महाराष्ट्र में पत्रकारों के उपर हो रहे हमले रुकने का नाम नहीं ले रहे. राज्य के विभिन्न हिस्सों से मिली जानकारी के अनुसार अप्रैल में 6 पत्रकारों के उपर जानलेवा हमले हुए है. इस हिसाब से राज्य में हर पाच दिन में एक पत्रकार पिटा जा रहा है. 29 तारीख को कर्जत आशीष बोरा पर जानलेवा हमला किया गया. वे पुण्यनगरी और कुछ चैनल के लिए काम करते है.

3 अप्रैल को जय महाराष्ट्र चैनल के दिलीप राय,13 अप्रैल को पनवेल स्थित आदिवासी सम्राट विकली के गणपत वरगडा,15 अप्रलै को मुर्तीजापुर के निलेश पिंजरकर, 25 को पुणे के पास वालचंदनगर के सचिन लोढे, 27 को मुंबई के संजय प्रसाद और 29 को आशीष बोरा के उपर हमले किए गए। 

याद हो कि महाराष्ट्र में मीडिया के उपर बढते हमले रोकने के लिए पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग को लेकर पत्रकार के सोला संघटन ने एक हो के बनाए पत्रकार हमला विरोधी कृति समिति पिछले पांच साल से आंदोलन चला रही है. लेकिन हमलावरों में ज्यादातर राजनीतिक दलों के ही लोग होते हैं, इससे सत्तारूढ या विरोधी दल यह कानून बनाने के लिए उत्सुक नहीं है. इससे पत्रकारों मे काफी गुस्सा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here