लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के सांसदों की टीम ने आज बाराबंकी में पत्रकार की मां नीतू द्विवेदी को थाने में आग से जलाने और उनसे अभद्रता करने के मामले बाराबंकी का दौरा किया और शाम को अपनी रिपोर्ट पार्टी हाई कमान को भेज दी। भाजपा सांसदों के दल ने इस मामले में पूरी तौर से पुलिस को दोषी करार दिया है।
बाराबंकी से लौटने के बाद जांच समिति के सांसद सदस्य अश्विनी चैबे, अर्जुन मेघवाल, मीनाक्षी लेखी और एमजे अखबर ने प्रदेश भाजपा कार्यालय में प्रेस वालों से बात करते हुए पूरी तौर से पुलिस और प्रदेश सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने करीब 1 दर्जन ऐसे बिन्दु उठाए जिससे इलाके की पुलिस पूरी तौर से दोषी पाई जा रही है। प्रस्तुत हैं जांच के प्रमुख बिन्दु-
पुलिस किसी भी दायरे से बाहर हो गई है। उप्र में कानून तो है, लेकिन व्यवस्था नहीं। सबूत इस केस में इल्जाम एक व्यक्ति पर था और धमकी किसी और पर। हिरासत में कोई और।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here