पणजी: प्रथम प्रकाशन के लगभग 28 साल के बाद गोवा का एकमात्र दैनिक कोंकणी समाचारपत्र अगले महीने से बंद हो जाएगा. समाचारपत्र से लागत वसूल नहीं हो पाने के कारण प्रबंधन ने यह निर्णय लिया है.
समाचारपत्र के मालिक और गोवा के प्रमुख खनन उद्योगपति दत्तराज सलगांवकर ने कल यहां पर एक बयान में कहा, ‘‘‘सुनापरंत’ को बंद करने का निर्णय लेने के लिए बहुत बड़ा दिल चाहिए.. जिसे मैंने शुरू किया था.. जब 1987 में कोंकणी को गोवा में अधिकारिक भाषा का दर्जा दिया गया था.’’

उन्होंने कहा, ‘‘जब एक उद्देश्य के लिए 28 साल पहले मैंने इसे शुरू किया था मैंने इसे कभी भारी घाटे के रूप में नहीं देखा जो मुझे सहना पड़ा था. मैं यह जरूर कहना चाहूंगा कि ‘सुनापरंत’ ने गोवावासियों के दिलों को छुआ और पत्रकारिता और साहित्य के क्षेत्र में और हमारे संविधान की भावनाओं को ध्यान में रखते हुये एकता, मुक्त विचार, धर्मनिरपेक्षता और वैज्ञानिक सोच कोंकणी के विकास के संदर्भ में काम किया.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here